Rja Rampur रजा रामपुर लाइब्रेरी उत्तर प्रदेश के रामपुर में स्थित है

0

GK in Hindi on Rja Rampur Study Notes on Rja Rampur रजा रामपुर लाइब्रेरी उत्तर प्रदेश के रामपुर में स्थित है सामान्य ज्ञान रजा रामपुर

रजा रामपुर लाइब्रेरी उत्तर प्रदेश के रामपुर में स्थित है। यह 1774 में नवाब फैज़ुल्लाह खान द्वारा स्थापित की गयी थी। उन्होंने अपनी सारी किताबें दान में देदी जो उन्हें अपने पूर्वजों से मिली थी। यहाँ वो पुस्तके है जो उन्होंने नवाबों के तोशाखाना में रखी थी। यहाँ भारत और इस्लामी सांस्कृतिक का बहुत अच्छा संग्रह है।


रामपुर ब्रिटिश काल के समय में स्थापित राज्य है। नवाबों या शासकों के राज्य के दौरान यहाँ बहुत सारे बदलाव हुए। पुस्तकालय में इस्लामी सुलेख के नमूने और खगोलीय उपकरणों की एक विविध और मूल्यवान संग्रह जैसे ऐतिहासिक स
पुस्तकालय में हिन्दी, संस्कृत, उर्दू, तमिल, तुर्की और पश्तो साहित्य, जैसी दुर्लभ पुस्तकों का खजाना है। तथापि, पवित्र कुरान का पहला अनुवाद हस्तलिपि में यहाँ हुआ था। यहाँ 30,000 से अधिक पुस्तकों और कई भाषाओं में पत्रिकाएं शामिल हैं। इस समय यह पुस्तकालय भारत सरकार दोवारा संचालित हो रही है।

        रामपुर उत्तर प्रदेश राज्य का एक ज़िला है। रामपुर नगर उपर्युक्त ज़िले का प्रशासनिक केंद्र है तथा कोसी के बाएँ किनारे पर स्थित है। यह प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थान भी है, जिसका महात्मा बुद्ध से निकट सम्बन्ध रहा है।

        रामपुर की स्थापना नवाब फ़ैजुल्लाह ख़ान ने की थी। उन्होंने 1774-1794 ई. तक यहाँ शासन किया।
भगवान बुद्ध के परिनिर्वाण के पश्चात उनके अस्थि अवशेषों के आठ भागों में से एक पर एक स्तूप बनाया गया था, जिसे ‘रामभार स्तूप’ कहा जाता था। संभवतः इसी स्तूप के खंडहर इस स्थान पर मिले हैं। किंवदंती है कि इसी स्तूप से नागाओं ने बुद्ध का दांत चुरा लिया था, जो लंका में ‘कांडी के मंदिर’ में सुरक्षित है।


कुछ विद्वान रामपुर को ‘रामगाम’ मानते हैं
        रामपुर का उल्लेख ‘बुद्धचरित’ में है, जहाँ रामपुर के स्तूप का विश्वस्त नागों द्वारा रक्षित होना कहा गया है। कहा जाता है कि इसी कारण अशोक ने बुद्ध के शरीर की धातु अन्य सात स्तूपों की भांति, इस स्तूप से प्राप्त नहीं की थी।
‘नवाबों की नगरी’ कहे जाने वाले रामपुर में उत्तरी रेलवे का स्टेशन है।
रामपुर का चाकू उद्योग काफ़ी प्रसिद्ध है। चीनी, वस्त्र तथा चीनी मिट्टी के बरतन के उद्योग भी नगर में हैं।


शिक्षा के अंतर्गत यहाँ अरबी भाषा का एक महाविद्यालय है।
‘रामपुर क़िला’, ‘रामपुर राजा पुस्तकालय’ और ‘कोठी ख़ास बाग़’ रामपुर के प्रमुख पर्यटन स्थलों में गिने जाते हैं।
रामपुर का कुल क्षेत्रफल 2,367 वर्ग किलोमीटर है।
लगभग 200 वर्ष पुरानी, रुहेलखंड की एक रियासत का नाम भी रामपुर था, जो उत्तर प्रदेश में विलीन हो गयी थी। इसके संस्थापक रुहेले थे।
प्रसिद्ध चीनी यात्री युवानच्वांग ने रामपुर के क्षेत्र का नाम ‘गोविषाण’ लिखा है।

रजा रामपुर(Rja Rampur GK in Hindi Study Notes) सामान्य ज्ञान पर आधारित परीक्षापयोगी महत्वपूर्ण प्रश्न :

प्रदेश में रजा लाइब्रेरी कहां पर स्थित है ?

In conclusion, Rja Rampur GK in Hindi – रजा रामपुर सामान्य ज्ञान and All Study Notes GK Questions are an important . In addition For General Knowledge Questions Visit Our GK Based Website @ www.upscgk.com

Leave A Reply

Your email address will not be published.