Biography of Munia ganguly in hindi jivani – मुनिया गांगुली की जीवनी

0

Biography in Hindi Get Exam Study Notes on Munia ganguly मुनिया गांगुली की जीवनी.

नाम : मुनिया गांगुली
जन्म : 
ठिकाण : भारत
व्यावसाय : जैव रसायज्ञ CIGIB मे वैज्ञानिक

प्रारंभिक जीवनी :


        मुनिया गांगुली एक भारतीय जैव रसायन विज्ञान, जैव प्रौघोगिकिविद और इंस्टीटयूट ऑफ जीनोमिक्सा एंड इंटीग्रेटीव बायोलॉजी ICGIB मे वैज्ञानिक है | वह दवा वितरण के गैर इनवेसिव प्रोटोकॉल के विकास के लिए जानी जाती है | मुनिनया गांगूली उस टुकडी के सदसया है | जिसने जीव विज्ञान के साथ रसायन विज्ञान मे हस्तक्षैप करने के लिए सीएसआईआर और आईजीआईबी के बीच संयुक्त अनुसंधान पहल मे आईजीआई बी का पतिनिधित्वा कीया था |

कार्य :


        मुनिया गांगूली विभिन्ना कोशिका और ऊतक प्रकाशों के लिए कार्गेा अणुओं के नैनोकम्पलेक्सा और नैनोकणो कि मध्यास्थता के तरीको की और काम कर रही है | डॉ. मुनिया नैनो विज्ञान और इसके आवेदन कि संपादकीय सलाहकार समिती कि सदस्या है | जो एक राष्ट्रीय स्तर कि संगोष्टी व्दारा प्रयोजित है | वह स्वास्था और बिमारी मे आवेदन के लिए IGIB परियोजना, नैनोमेटेरियल्सा और नैनोडेविसेस कि नेता के रुप मे कार्यरीत रही है |

        उनके नेतृत्वा वाली टीम ते त्वाचासंबंधी विकरों के लिए एक दवा वितरण प्रणाली विकसीत करने मे सफल रही है | जिसमे एक नैनोमिटर के आकार के पेप्टाइड कॉम्प्लेक्सा का उपयोग करके प्लास्मिड डीएनए ले जाया गया | दुकि प्रभावी प्रेवश दिखाया गया है | और जाहिर तौर पर त्वाचा को नुकसान पहूंचाए बिना |

        डॉ. मुनियाने आपने व्दारा विकसित प्रक्रियाओं के लिए दो पेटेंट रखे है | डॉ. मुनिया ने आईजीआईबी मे अपनी प्रयोगशाला स्थापित कि है | उसकी प्रयोगशाला मुख्या रुप से सेल पेप्टाइडिंग पेप्टाइडस का उपयोग करके त्वाचा, ऑख और केटफडों को न्युक्लिक एसिढ और कुशल रणनीतियों केा विकसति करने मे लगे हुए है | जो कि अंतत: इन अंगो को विकसित कार्गेा के वितरण के लिए उपयोगी हो सकती है |

        वर्तमान मे इस प्रयोगशाला का फोकस : 1) पेप्टाइड आधारित नैनोकम्पलेक्सो को विभिन्ना सेल और उतक प्रकारों तक न्यूक्लिक एसिड कि डिलीवरी के लिए विकसित करना है | 2) त्वाचा के लिए कार्गो डिलीवरी के सुरक्षित और कुशल तरीके विकसीत करना है |

उपलब्धी :

पुरस्कार और सम्मान :


1) भारत सरकार ने उनहें बायोसाइंस मे उनके योगदान के लिए 2012 मे राष्ट्रीय बायोसाइकोलॉजी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है |
2) वैज्ञानिक लेखो कि एक ऑनलाइन रियॉजिस्टरी ने उनमे से 76 को सुचीबघ्दा किया है | 
3) नैनोवर्क ABSMSNW: 2017 मे जैविक प्रणाली और सामग्री विज्ञान मे वे अग्रिमों पर आंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन मे शामिल है |
4) उन्हेांने जनवरी 2011 मे प्रकाशित जीनोमिक्सा रमीर्निग ट्रेडस इन हेल्थ एंड डिसीवर विज्ञान और संस्कृति पत्रिका के विशेष वॉल्यूम को संपादित किया है |

पुस्तक :


        इनऑरगॉनिक पार्टीकल सिनसिथीसिस Via मायक्रो एंड मायक्रोकल्श्ंन ए माइक्रोमीटर से नैनोमीटर लैंडस्केप मुनिया गांगूली 31 ऑक्टोकर 2003 मे प्रकाशित हुआ |

मुनिया गांगुली की जीवनी (Munia ganguly Biography in Hindi Study Notes) पर आधारित परीक्षा उपयोगी महत्वपूर्णप्रश्न :

In conclusion, Munia ganguly Biography in Hindi – मुनिया गांगुली की जीवनी and All Study Notes GK Questions are an important . In addition For General Knowledge Questions Visit Our GK Based Website @ www.upscgk.com

Leave A Reply

Your email address will not be published.